धर्मेन्द्र विह्वल

धर्मेन्द्र विह्वल

जन्म विक्रम सम्वत २०२३-१२-०४, बस्तीपुर सिरहा,शिक्षा: एम ए (मैथिली/राजनीतिशास्त्र), डिप्लोमा ईन डेभलपमेन्ट जर्नालिज्म, प्रकाशित कृति : एक समयक बात (वि स २०६१ मैथिली हाईकु संग्रह ), रस्ता तकैत जिनगी (वि स २०५०/ कविता संग्रह ),एक सृष्टि एक कविता (२०५७/दीर्घ कविता ),हमर मैथिली पोथी (कक्षा 1 सं ५ धरिक पाठय पुस्तक),सम्प्रति: सभापति, नेपाल पत्रकार महासंघसम्‍पादक


किछु छौंक

१) बदनामी

प्रेम आ सिनेहकेँ

सरेबजार

निलाम नहि करू

गौरवमय इतिहासकेँ

एना बदनाम नहि करू ।


२) विज्ञापन

जानि नहि

आदमीक जंगलमे

हम कतय

हेरा रहल छी

अखवारक ढ़ेरमे

हम जिनगीक विज्ञापन

ताकि रहल छी ।


३) इज्जत

खुलेआम इज्जत

बिका रहल अछि

दाम दऽ

झट कीनि दिअ

जल्दि करू

स्टोक सीमित अछि ।



http://www.videha.co.in/Dhipre%20Mans.jpg

0 टिप्पणी:

Post a Comment